Electro Homeopathic Treatment of Urticaria

Electro Homeopathic Treatment of Urticaria : अर्टिकेरिया यानी पित्ती एक आम बीमारी है। आमतौर यह पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक प्रभावित करती है। हलाकि यह बीमारी किसी भी उम्र के लोगों में हो सकती है। इसके कारणों पर नियंत्रण कर के इस बीमारी से निपटा जा सकता है।पित्ती लाल रंग के चकत्ते होते है जो त्वचा पर दिखाई देते है। यह अज्ञात कारण के लिए कुछ एलर्जी के खिलाफ शरीर की प्रतिक्रिया है।

Electro Homeopathic Treatment of Urticaria
Electro Homeopathic Treatment of Urticaria


यदि अवस्था छः सप्ताह से अधिक समय तक दिखाई दे और महीनों या वर्षों में बार-बार आती हो, तो स्थिति को पुरानी पित्ती माना जाता है।पुरानी पित्ती बहुत असहज हो सकती है और नींद और दैनिक गतिविधियों में हस्तक्षेप कर सकती है। कई लोगों में , एंटीहिस्टामाइन और खुजली रोकने वाली दवाएं राहत प्रदान करती हैं।

Urticaria के कारण : Cause of Urticaria

आमतौर पर Urticaria सूर्यप्रकाश एक्सपोजर, किसी कीट के डंक, कुछ खाद्य पदार्थों या दवाओं में पाए जाने वाले रसायनों से उत्पन्न होने वाली एलर्जी प्रतिक्रियाओं के कारण होता है जो हेरामाइन नामक रसायन जारी करते हैं।Urticaria का कारण बनने वाले सबसे आम खाद्य उत्पाद जैसे दूध, जामुन, अंडे, टमाटर, मछली, चॉकलेट और नट्स होते हैं। कोडीन और रक्त चाप की दवाओं से भी Urticaria हो सकता हे।

Urticaria के लक्षण : Symptoms of Urticaria

  • लाल ,पीले या त्वचा के रंग के धब्बे जो शरीर पर कहीं भी दिखाई दे सकते हैं
  • चकत्तों में खुजली और जलन
  • होंठ, पलकें और गले के अंदर दर्दनाक सूजन (एंजियोएडेमा)
  • विभिन्न आकार और आकृति के चक्क्ते और साथ में खुजली।
  • किसी विशेष कारण से चकत्ते पड़ना

अर्टिकेरिया का निदान : How to Diagnoses Urticaria

डॉक्टर कई सवाल पूछ सकता है जिससे अर्टिकेरिया का निदान करना आसान हो सकता है। जैसे आप हर दिन क्या क्या करते हैं, क्या दवाएं, हर्बल उपचार या कोई सप्लीमेंट्स आपले रहे हैं, आप क्या खाते हैं और क्या पीते हैं, पित्ती कहां दिखाई देती है और कितनी देर में यह मुरझा जाती है। पित्ती आने से पहले अपने क्या खाया था या क्या किया था या आप कहाँ गए थे। इसके अलावा पुष्टि करने के लिए ब्लड और एलर्जी टेस्ट किया जा सकता है।

एलर्जी ब्लड टेस्ट एक टेस्ट है जो सीरम में इम्युनोग्लोबुलिन ई (IgE) की मात्रा को चेक करता है। IgE से यह पता चलता है की आपको एलर्जी हे या नहीं लेकिन किस से एलर्जी हे इसके लिए IgG टेस्ट की आवश्यकता पड़ेगी।

पित्त का इलेक्ट्रो होम्योपैथिक उपचार

Electro Homeopathic Treatment of Urticaria

  • A3+S5+C5+L1+F1+Ver1+BE – 200 10 drops according to condition
  • Ven1- 200 morning for 3 days only
  • S5+BE – Bath and spray
  • A2+S5+C5+Ver1+WE+BE – Apply in coconut oil
  • शीतली प्राणायाम

A1 – Electro Homeopathic Remedy A1
A2 – Electro Homeopathic Remedy A2
A3 – Electro Homeopathic Remedy A3

Homeopathic Treatment of Urticaria

  • Astugus flaviatelis 6 ch: 2 drops 3 times a day
  • Urtica urenus Q : 20 drops 3 times a day with some water
  • Rhus tox 30: 2 drops 3 times a day
  • Dulcamara 200 : 2 drops in morning
  • Histaminum 200: 2 drops in night

Leave a Reply