Electro Homeopathic Remedy C13

Electro Homeopathic Remedy C13: यह औषधि हलक, टॉन्सिल ग्रंथियों, श्लेष्मिक कलाओं , पाचन तंत्र ,स्वसन तंत्र ,जनन तंत्र ,मूत्र तंत्र रक्त एवं परिसंचरण तंत्र, तंत्रिका तंत्र आदि पर इसका व्यापक प्रभाव है।यह औषधि प्रत्येक प्रकृति वाले व्यक्तियों में प्रयोग की जाती है। नाक गला, आमाशय एवं आँतो पर इसका विशेष प्रभाव है। रक्त कैंसर एवं डिप्थीरिया नामक रोग की सर्वश्रेष्ठ औषधि है।रक्त कैंसर में तीव्र दर्द नियमित रूप से होना। एक सामान्य लक्षण है। तीव्र होने पर रोगी बेहोशी की स्थिति में चला जाता है। बीच-बीच में लंबी सांसे लेता है। और बढ़ने पर रोगी छटपटाता है। इधर उधर भागता है ।

Electro Homeopathic Remedy C13
Electro Homeopathic Remedy C13

Plants in Electro Homeopathic Medicine C13

Ailanthus Glandulosa 
Atropa Belladonna 
Conium Maculatum 
Pimpinella Saxifraga 
Rhux Toxicodendron 
Vincetoxicum Officinale 

सबसे अच्छा प्रभाव catarrh, ग्रसनी, स्वरयंत्र, नाक, coryza, या इन्फ्लूएंजा के लिए।
डिस्फागिया, डिस्फोनिया, एफोनिया, आवाज की कर्कशता, गले में खराश और स्वरयंत्र और ग्रसनी की सूजन के घाव।गले या उसके उपांग के अपक्षयी या कैंसर के विकास में पसंद की पहली दवा।
डिप्थीरिया, जो बैक्टीरिया के संक्रमण, गले में दर्द के कारण होता है।
टॉन्सिलिटिस, डिप्थीरिया, गले में खराश, फैरिंगिटिस, लैरींगाइटिस।

तोतली बोली में भी यह लाभदायक सिद्ध हुई है। यह औषधि रक्त कैंसर तक की सीमित औषधि नहीं , बल्कि इसके विषैले पदार्थों को भी बाहर निकालकर रक्त को शुद्ध करती है। प्रत्येक प्रकार के कैंसर रोग में यह लाभदायक है।यह औषधि नाक तथा गले की विशेष औषधि समझनी चाहिए। इस औषधि का प्राकृतिक प्रभाव कैंसर नाशक, रस – रक्त शोधक ग्रंथियों , रोग नाशक , घाव को सुखाने वाली शक्ति दायक आदि है।

वूपिंग कफ की सूखी, खांसी रात में बढ़ जाना, स्वर यंत्र के उत्तेजना एवं स्वर यंत्र के कारण खासी आना, गले में दर्द युक्त बलगम का आना, जैसी सूखी खांसी आदि में प्रयोग किया जाता है। स्वसन तंत्र में उत्पन्न परेशानियों को दूर करने में P ग्रुप कि यह सहयोगी औषधि है।

यह भी पढ़ें : शीघ्रपतन का इलेक्ट्रो होम्योपैथिक उपचार

Read Also : EH Treatment of Back Pain

Leave a Reply