Electro Homeopathic Medicine C1

Electro Homeopathic Medicine C1 ग्रंथियों, लसीका शोषक वाहिकाओं, लार ग्रंथियों, श्लेष्मा झिल्ली, सीरस झिल्ली, विशेष रूप से गले, पुरुष और महिला जननांगों के चमड़े के नीचे और त्वचीय और ऊतक संरचना के पूरे क्षेत्र पर सबसे व्यापक औषधि है।C1 अल्सर, indurations, ग्रसनी की सूजन, योनि, गर्भाशय, गले, नाक, कान और आंखों के लिए विशिष्ट है। तीव्र पुरानी त्वचा का फटना, ल्यूकोरिया, मासिक धर्म संबंधी विकार।मानसिक और शारीरिक विकार, यौन रुचि की कमी।प्रजनन आयु के दौरान और रजोनिवृत्ति के बाद शारीरिक और रोग संबंधी परिवर्तनों के लिए।

Electro Homeopathic Medicine C1
Electro Homeopathic Medicine C1

स्त्रियों के जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक साथ निभाने वाली एकमात्र औषधि जीवन ही है। स्त्रियों के जनन अंगों एवं उनके अंगों पर C1 का प्रमुख प्रभाव है। स्त्रियों के जन्म से लेकर मृत्यु तक किसी न किसी प्रकार की जननांग से संबंधित परेशानियां समस्याएं लगी रहती हैं।महिलाओं संबंधी जितनी भी समस्याएं होती हैं। सभी समस्याओं के लिए C1 रामबाण का कार्य करती है। प्रसव होने के 1 सप्ताह पहले यदि प्रथम डाइल्यूशन का प्रयोग गर्भवती महिला को कराया जाए तो प्रसव के समय बिना किसी कष्ट के आसानी के साथ प्राकृतिक ढंग से हो जाता है।

प्रसव के बाद यदि महिला का गर्भाशय अपने स्वाभाविक अवस्था में ना पाये और अत्यधिक कमजोरी पैदा हो जाये। जिस के कारण गर्भाशय पूरी तरह संकुचित नहीं हो पाता है । जिसके फलस्वरूप गर्भाशय से पतला काला रक्तस्त्राव लगातार होता रहता है। जिससे कमर से लेकर प्यूबिक का दर्द बना रहता है। ऐसे सभी रोगों में C1 का नेगेटिव डोज देना चाहिए।

C1 very effective in below female diseases

  • जननांगों कि उचित वृद्धि ना होना
  • समय से पहले ज्यादा मात्रा में अधिक दिनों तक Menses होना
  • देर से Menses थोड़ी मात्रा में तथा एक-दो दिन तक ही आना
  • Menses काला होना
  • Menses के पहले या बाद में या उसी समय भयंकर दर्द चिल्कन चुभन होना
  • Menses में किसी भी प्रकार की खराबी
  • स्वेत प्रदर , रक्त प्रदर
  • गर्भाशय की कमजोरी के कारण अक्सर रक्तस्त्राव होने की संभावना

यह भी पढ़े : कमर दर्द का उपचार

यह भी पढ़ें नींद ना आने का उपचार

यह भी पढ़ें : अपच का इलेक्ट्रो होम्योपैथिक उपचार

Plants in Electro Homeopathic Medicine C1

Coulophylium Thalictroides 
Conium Maculatum 
Pimpinella Saxifrage 
Rhus Toxicodendron 
Vincetoxicum Officinale 
Electro Homeopathic Medicine C1

Leave a Reply